|| आई शुभ दीवाली छै ||

0
225
दीप जराव दीप जराव आई शुभ दीवाली छै,
हँसी खुशी सब संग नाचू आई शुभ दीवाली छै !
चलु सब मिलजूल माँ लक्ष्मी जी के पूजन करै छी,
घर-घर जाक’ मिठाई बटैछी, आई शुभ दीवाली छै !!
दीप जराव दीप जराव आई शुभ दीवाली छै || १ ||
आई घर-घर मे पकवान पकै छै,
सबतैर आई गम-गम करै छै !
बौआ बुच्ची नव – नव कपरा पहीर,
गीत गावि नचै छै, आई शुभ दीवाली छै !!
दीप जराव दीप जराव आई शुभ दीवाली छै || २ ||
माँ लक्ष्मी जी के कृपा सँ दु:ख कलेश दूर भेलै,
निर्धन के धन, कोढीया के काया, बाझिन के पूत्र भेलै !
फल-फूल, मिठाई माँ लक्ष्मी जी के भोग लगेबै,
सब मिल मैया के अवाह्न करू, आई शुभ दीवाली छै !!
दीप जराव दीप जराव आई शुभ दीवाली छै || ३ ||
चमचम चमकै छै, चारू दिश जगमग करै छै,
धरती आई स्वर्ग सँ सुदंर लागै छै !
स्वर्गक’ देवता आई धरती पर उतरल,
सब मिल माँ लक्ष्मीजी केर जैकार करै छै, आई शुभ दीवाली छै !!
दीप जराव दीप जराव आई शुभ दीवाली छै || ४ ||

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here