Maithili Shayari ~ ओ अबै छल जे सजिक तऽ भोर रहै छल …

0
85

ओ अबै छल जे सजिक तऽ भोर रहै छल,
मोन गदगद हमर ओ कठोर रहै छल !
लाख मनबैछलौ दिल मनिते नई छल,
सदिखन लेटर देब लाऽ बलजोर रहै छल !!





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here