Maithili Shayari – चाँदकऽ चाँदनी जका चमकैत रहु

0
99

फूलकऽ खुश्बू जका गमकैत रहु ,

चाँदक चाँदनी जका चमकैत रहु !
अहाँक जिनगी में कभी नई आबे गम ,
सदा जीवन एनाही मुस्कुरायत रहु !!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here